Gulzar Best Shayari | Gulzar Best Lines

Gulzar Best Shayari Available on Shayarigodown.Gulzar Best Shayari in Hindi,English Font. If you want to get the best Gulzar Best Shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection of Gulzar Shayari.

Shayari is the best way to express your feeling in words
and shayarigodown is fully dedicated to feelings.

Gulzar Best Shayari | Gulzar Best Lines

Behisaab Hasrate Na Paliye,
Jo Mile Hai Usse Sambhaliye.

बेहिसाब हसरतें न पालिए,
जो मिला है उसे सम्भालिए.

Sochta Tha
Dard Ki Daulat Se
Ek Main Hi Malamal Hoon
Dekha Jo Gaur Se Toh
Har Koi Raees Nikala.

सोचता था
दर्द की दौलत से,
एक मैं ही मालामाल हूँ,
देखा जो ग़ौर से तो,
हर कोई रईस निकला.

Gulzar Best Shayari | Gulzar Best Lines

Kuch Aalag Karna Ho Toh
bheed Se Haat Kar Chaliye,
Bheed Saahas To Deti Hai,
Magar Pehchan Chheen Leti Hai.

कुछ अलग करना है तो
जरा भीड़ से हटकर चलो
क्योंकि भीड़ साहस तो देती है
लेकिन पहचान छीन लेती है ।

Lafzo Ke Bhi
Jayake Hote Hai,
Parosane Se Pehle
chakh Bhi Lena Chaiye.

लफ़्ज़ों के भी
ज़ायके होते हैं.
परोसने से पहले,
चख लेना चाहिए.

Gulzar Best Shayari | Gulzar Best Lines

Aaj Bachpan Ka Tutta Huwa
Khilona Mila,
Usne Mujhe Tabh Bhi Rulaya Tha,
Usne Mujhe Aaj Bhi Rulaya Hai.

आज बचपन का टूटा हुआ खिलौना मिला
उसने मुझे तब भी रुलाया था
उसने मुझे आज भी रुलाया है।

So Jaiye
Sab Takliff Ko,
Sirhane Rakh Kar…
Kyuki,
Subha Uthte Hi Inne,
Fhir Se Gale Lagana Hai.

सो जाइये
सब तकलीफों को,
सिरहाने रख कर…
क्योंकि,
सुबह उठते ही,
इन्हें फिर से गले लगाना है…

Hajaron Chehron Main
Ek Tum Dil Ko Acche Lage,
Varna Na Chahat Ki Kami Thi
Aur Na Chahne Walo Ki.

हजारों चेहरों में
एक तुम दिल को अच्छे लगे,
वरना ना चाहतों की कमी थी
और ना चाहने वालों की.

Leave a Comment